Manjha song lyrics❤️. Best of Vishal Mishra

English Introduction: “Manjha Lyrics” is the newest Hindi song performed by Vishal Mishra. The lyrical magic of this song has been woven by the talented Vishal Mishra himself, along with the skillful Akshay Tripathi. The musical composition for ‘Manjha’ is a creation of none other than Vishal Mishra.

amazon lyrics

Hindi Introduction: “मांझा लिरिक्स” एक नवीनतम हिंदी गीत है जिसे विशाल मिश्रा ने गाया है। इस गीत के बोल विशाल मिश्रा और अक्षय त्रिपाठी द्वारा लिखे गए हैं। ‘मांझा’ की संगीत रचना भी विशाल मिश्रा के द्वारा की गई है।

iphone giveaway free lyrics website

AspectInformation
Song NameManjha
SingerVishal Mishra
Special ThanksRiyaz Aly
MusicVishal Mishra
LyricsVishal Mishra & Akshay Tripathi
Music Produced & Arranged byVishal Mishra

Manjha Song Lyrics in English

Hai manjha tera tez,
Yeh dil ki patang ko kaate haaye,
Tujhi se kat ke yeh,
Gire teri chhat pe aake haaye.

Hai manjha tera tez,
Yeh dil ki patang ko kaate haaye,
Tujhi se kat ke yeh,
Gire teri chhat pe aake haaye.

Meri jaan chali jaaye hai,
Tu jo mud ke dekhe haaye,
Tujhi se kat ke yeh,
Gire teri chhat pe aake haaye.

amazonfreedealslyrics1

Hai manjha tera tez,
Yeh dil ki patang ko kaate haaye.

Titli thi main baawri si,
Idhar kabhi udhar kabhi,
Kaise aa thehri teri chhat pe aake haaye.

Manmaaniyon se hain nazaare,
Kya darmiyaan hain yeh humare,
Ho manmaaniyon se hain nazaare,
Kya darmiyaan hain yeh humare,
Dil kaagaz ka ek panchhi,
Tu ambar saara haaye.

Tujhe jo dekhe to

Yeh phurr phurr udd he jaaye haaye,
Hai manjha tera tez,
Yeh dil ki patang ko kaate haaye,
Tujhi se kat ke yeh,
Gire teri chhat pe aake haaye.

Hai manjha tera tez,
Yeh dil ki patang ko kaate haaye!
Tujhi se kat ke yeh,
Gire teri chhat pe aake haaye.

Manjha Song Lyrics in Hindi

है मांझा तेरा तेज़,
ये दिल की पतंग को कहते हैं,
तुझसे कट के ये,
गिरे तेरी छत पे आके हाये।

win amazon coupon lyrics

है मांझा तेरा तेज़,
ये दिल की पतंग को कहते हैं,
तुझसे कट के ये,
गिरे तेरी छत पे आके हाये।

मेरी जान चली जाये,
तू जो मुड़ के देखेगा,
तुझसे कट के ये,
गिरे तेरी छत पे आके हाये।

है मांझा तेरा तेज़,
ये दिल की पतंग को कहते हैं.

तितली थी मैं बावरी सी,
इधर कभी उधर कभी,
कैसे आ ठहरी तेरी छत पे आके हाए।

मनमानियों से हैं नज़ारे,
क्या दरमियान हैं ये हमारे,
हो मनमानियों से हैं नज़ारे,
क्या दरमियान हैं ये हमारे,
दिल कागज़ का एक पंछी,
तू अम्बर सारा है.

तुझे जो देखे तो

ये फुर्र फुर्र उड़ हे जाए हाए,
है मांझा तेरा तेज़,
ये दिल की पतंग को कहते हैं,
तुझसे कट के ये,
गिरे तेरी छत पे आके हाये।

है मांझा तेरा तेज़,
ये दिल की पतंग को कहते हैं!
तुझसे कट के ये,
गिरे तेरी छत पे आके हाये।

Also read: Tere Naal तेरे नाल

Leave a Comment