Ullu Ka Pattha Song Lyrics❤️. Best of Jagga Jasoos

English Introduction: “Ullu Ka Pattha” is a song from the movie “Jagga Jasoos,” featuring vocals by Arijit Singh and Nikita Gandhi. The lyrics for this song were written by Amitabh Bhattacharya, and the music was composed by Pritam. The song is a part of the film’s soundtrack and stars Ranbir Kapoor and Katrina Kaif.

amazon lyrics

Hindi Introduction: “उल्लू का पठ्ठा” फिल्म “जग्गा जासूस” से एक गाना है, जिसे अरिजित सिंह और निकिता गांधी ने गाया है। इस गाने के बोल अमिताभ भट्टाचार्य द्वारा लिखे गए और संगीत प्रीतम द्वारा बनाया गया है। यह गाना फिल्म के संगीत संग्रह का हिस्सा है और इसमें रणबीर कपूर और कैट्रीना कैफ हैं।

iphone giveaway free lyrics website

AspectName
SingerArijit Singh & Nikhita Gandhi
MovieJagga Jasoos
LyricsAmitabh Bhattacharya
MusicPritam
Music LabelT-Series

Ullu Ka Pattha Song Lyrics in English

janaa naa ho jahaan vahiin jaataa he,
dil ullu kaa pattha he,
thodi takadir kyon aajamaata he,
dil ullu kaa pattha he,
janaa naa ho jahaan vahiin jaataa he,
dil ullu kaa pattha he,
thodi takadir kyon aajamaata he,
dil ullu kaa pattha he,
be sar pair kii he isaki aadaten,
afat ko jaan ke detaa he daavatein,
i i ai.
jaise aata he chutki main jaataa he,
dil sau sau kaa chutta he,
ho janaa na ho jahaan vahiin jaataa he,
dil ullu kaa pattha he.

hamm. kanphyus he,
dosti pe ise aitbaar aadha he,
rang main dosti ke jo bhang ghol de,
ishk kaa bhoot sar pe savaar aadha he,
nigal sake nahin ugal sake!
sangemarmar kaa bangala banaata he,
dil akbar kaa pota he,
o. janaa na ho jahaan vahiin jaataa he,
dil ullu kaa pattha he.

Ullu Ka Pattha Song Lyrics in Hindi

जाना ना हो जहां वहीं जाता है,
दिल उल्लू का पट्ठा हे,
थोडी तकादिर क्यों अजमाता हे,
दिल उल्लू का पट्ठा हे,
जाना ना हो जहां वहीं जाता है,
दिल उल्लू का पट्ठा हे,
थोडी तकादिर क्यों अजमाता हे,
दिल उल्लू का पट्ठा हे,
बे सर जोड़ी की वह इसाकी आदतें,
आफत को जान के देता वह दावतें,
मैं मैं ऐ.
जैसा आता हे चुटकी मैं जाता हे,
दिल सौ सौ का छुट्टा हे,
हो जाना ना हो जहां वहीं जाता है,
दिल उल्लू का पट्ठा हे.

amazonfreedealslyrics1

हम्म. कन्फ़ियस वह,
दोस्ती पे इसे ऐतबार आधा हे,
रंग मैं दोस्ती के जो भांग घोल दे,
इश्क का भूत सर पे सवार आधा हे,
निगल सके नहीं उगल सके!
संगेमरमार का बंगला बनता है,
दिल अकबर का पोता हे,
ओ जाना ना हो जहां वहीं जाता है,
दिल उल्लू का पट्ठा हे.

Also read: Pehli Dafa पहली दफा

Source: Youtube

Leave a Comment